बुधवार, 10 अक्तूबर 2012

आज बेटे का जन्मदिन है !



आज,
अंतर मन के 
कोने-कोने से 
आया है मधुर भाव 
उभर कर !

ओ मेरे जीवन 
बगिया के फूल  
हंसकर खिलना 
हर एक 
पहर !

विषमता में भी 
मुरझाना नहीं 
देते रहना सौरभ 
लंबी तुम्हारी हो 
उमर ....

14 टिप्‍पणियां:

  1. जिनकी तस्वीर है उनका ही ज़िक्र है क्या????

    हमारी भी शुभकामनाएं...
    सुन्दर भाव..

    सादर
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. जी अनु, उसीका जीकर है यह
      मेरे बेटे का, आभार टिपण्णी के लिए ...

      हटाएं
  2. विषमता में भी
    मुरझाना नहीं
    देते रहना सौरभ
    लंबी तुम्हारी हो
    उमर ....

    बहुत सुन्दर शुभकामनाएं..........

    RECENT POST: तेरी फितरत के लोग,

    उत्तर देंहटाएं
  3. अगर बेटे का जन्मदि है, तो बहुत बहुत शुभकामनाएं
    अच्छा आशीर्वाद दिया है आपने..

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस भावपूर्ण रचना के लिए आपको बधाई...

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  5. सकारात्मक सोच का आशीर्वाद बहुत अच्छा लगा बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  6. बधाई
    शुभकामनाएं
    लें प्रभु हर
    हर बलाएं

    उत्तर देंहटाएं
  7. सुमन के सौरभ को हमारी भी अशेष शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  8. आज,
    अंतर मन के
    कोने-कोने से
    आया है मधुर भाव
    उभर कर !

    ओ मेरे जीवन
    बगिया के फूल
    हंसकर खिलना
    हर एक
    पहर !

    विषमता में भी
    मुरझाना नहीं
    देते रहना सौरभ
    लंबी तुम्हारी हो
    उमर ....

    आशा का हर दीप जलाए रखना ,

    अंधियारे से मत डरना .

    बेहद सकारात्मक ऊर्जा से लबालब रागात्मक भाव .

    उत्तर देंहटाएं
  9. एक माँ का आशीर्वाद...बहुत सुन्दर ..!!! हमारी भी शुभकामनाएं और अशेष आशीर्वाद !

    उत्तर देंहटाएं