गुरुवार, 19 अप्रैल 2012

दूर क्षितिज के पार .......

जब भी मेरी
भावनाओं को
व्यक्त करने को
मिल जाते है
सही शब्द, सही रूप,
सही आकार तब
जन्म लेती है
एक कविता नई
और अनायास ही
फिर से जीने का
बहाना मिल जाता है
एक नया सच में,
इन कविताओं का
सृजन केवल एक
बहाना ही तो है
सन्देश तुम तक
पहुँचाने का
अन्यथा मै कह
न पाती कभी
तुम सुन पाते
दिल की बात
दूर क्षितिज के
पार
प्रिय तुम्हारा
गाँव !

17 टिप्‍पणियां:

  1. कविता जगत में आपका स्वागत है....
    शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  2. इन कविताओं का
    सृजन केवल एक
    बहाना ही तो है
    सन्देश तुम तक
    पहुँचाने का
    वाह...बहुत अच्छी रचना...बधाई स्वीकारें

    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  3. इन कविताओं का
    सृजन केवल एक
    बहाना ही तो है
    सन्देश तुम तक
    पहुँचाने का बहुत,..

    वाह!!!!!बहुत सुंदर अभिव्यक्ति,सुमन जी

    MY RECENT POST काव्यान्जलि ...: कवि,...

    उत्तर देंहटाएं
  4. आभार दीदी -

    बढ़िया प्रस्तुति ।।

    शब्द निवेदन में यही, यही शब्द सन्देश |

    कविता हो जाते अगर, बढ़ता भावावेश |

    बढ़ता भावावेश, माध्यम अच्छा पाया ।

    बसे दूर परदेश, पिया के पास पठाया ।

    सुरभित सुमन सुगंध, संग में कंटक भेदन ।

    शब्द भाव बिन व्यर्थ, बांचिये शब्द निवेदन ।।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुंदर सुमन जी.....
    सच बात है, अपनी बात आसानी से कही जा सकती है कविता के माध्यम से....

    बहुत प्यारे भाव,

    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही सुन्दर भावोक्ति सुमनजी!

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर भावमयी प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत अच्छी प्रस्तुति!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
  9. दूर क्षितिज के
    पार
    प्रिय तुम्हारा
    गाँव !bahut hi bhavpurn rachna.

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत अच्छी रचना...बधाई स्वीकारें

    उत्तर देंहटाएं
  11. कुछ अनकहा,अनसुना है,तभी प्रेम है और उसी से कविता भी।

    उत्तर देंहटाएं
  12. अन्यथा मै कह
    न पाती कभी
    तुम सुन पाते
    दिल की बात.

    भावनाओं के सम्प्रेषण का अद्भुत तरीका ईजाद किया है सुमन जी.

    सुंदर प्रस्तुति.

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत खूब ..
    कविता तो एक बहाना है ..
    अपनी बात सुनना सुनाना है ...

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत सुंदर! दूरी तो दिलों की है, ज़मीनी दूरी कोई दूरी कहाँ!

    उत्तर देंहटाएं
  15. सुंदर पोस्ट । मेरे पोस्ट पर आपका स्वागत है । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं